अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की बेटी और एडवाइजर इवांका ट्रम्प ने GES 2017 में अपने भाषण में अनेक मुद्दों पर बात करि.

भारत के प्रधान मंत्री मोदी के लिए

इवांका ने भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि बचपन मैं चाय बेचने से लेकर प्रधान मंत्री बनने तक उन्होंने यह साबित कर दिया है कि बदलाव मुमकिन हैं और अब वह वही वादा देश के लाखों लोगों से कर रहे हैं.

भारत के लोगों के लिए

इवांका ने भारत के लोगों को मुबारकबाद देते हुए कहा कि उन्होंने एन्त्रेप्रेंयूर्शिप और मेहनत के ज़रिये १३ करोड़ लोगों को गरीबी से निकला है.

महिला एन्त्रेप्रेंयूर्स के लिए

उन्होंने बोला कि वह बहुत खुश हैं कि पहली बार १५०० एन्त्रेप्रेंयूर्स जो उस समिट में भाग ले रही थी उसमें से ज़्यादातर महिलाएं थी.

केवल जब महिलाएं सशक्त होती हैं, हमारे परिवार, हमारी अर्थव्यवस्थाएं, और हमारे समाज अपनी पूरी क्षमता तक पहुंचेंगे.

पढ़िए : यदि एन्त्रेप्रेंयूर बनने के पीछे एक प्रेरणा शक्ति है, तो वह जुनून होना चाहिए – सुभाश्री बासु

महिलाओं की एन्त्रेप्रेंयूर्स बनने की ज़रुरत पर

बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं को एन्त्रेप्रेंयूर्स किसी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए बनती हैं. कुछ को वो फ्लेक्सिबिलिटी नहीं दी जाती जो अपने परिवार का ध्यान रखने के लिए चाहियें. किसी को प्रोफेशनल स्पोंसर्स नहीं मिले तो किसी को प्रमोशन के लिए विचार नहीं दिया गया.

महिलाओं और समस्याओं पर

उन्होंने कहा कि कुछ ऐसे देश हैं जहाँ महिलाओं को प्रॉपर्टी की मालकिन होने पर पाबंधी हैं. वह स्वतंत्रता से घूम नहीं सकती या अपने पति की सहमति के बिना काम नहीं कर सकती. कुछ और देशों में पारिवारिक दबाव इतना होता हैं कि महिलाओं को बाहर काम करने कि अनुमति नहीं दी जाती.

महिलाओं के काम करने के फायदे

जब महिलायें काम करती हैं तो एक अद्वितीय गुणक प्रभाव होता हैं. महिलाएं पुरुषों की तुलना में महिलाओं को ज़्यादा काम देती हैं, उन्हें मेंटरशिप और नेटवर्किंग प्रदान करती हैं.

ग्लोबल एन्त्रेप्रेंयूर्शिप समिट पर

इवांका ने कहा कि वह वहां मौजूद सब लोगों को एक-दुसरे से सीखने और हमारे सामाज में बाधाओं को दूर करने के नए तरीकों को खोजने के लिए प्रोत्साहित करती हैं जिससे कि महिलाओं को नए सिरे से स्वतंत्र, सफल होने के लिए सशक्त बनाया जाए और हमारे बच्चों को एक उज्ज्वल भविष्य छोड़ने में सक्षमता मिले.

एक बेहतर दुनिया का निर्माण करने पर

इवांका ने कहा कि हमारी दुनिया कितनी बेहतर होगी यदि पुरुष और महिलाएं सभी एक बड़ा सपना, उच्च लक्ष्य और एक और अधिक समृद्ध भविष्य के लिए एक साथ काम करें। एक भविष्य जहां सभी मां और पिता अपने परिवार के लिए कड़ी मेहनत कर सकते हैं और बेहतर जीवन बिता सकते हैं – जहां सभी लड़के और लड़कियां स्कूल जा सकते हैं, अपनी प्रतिभा पा सकते हैं, और अपनी महत्वाकांक्षाओं को आगे बढ़ा सकते हैं – और जहां सभी देशों के लोग रह सकते हैं और साथ काम कर सकते हैं.

पढ़िए : डिजिटल ग्रामीण एन्त्रेप्रेंयूर्शिप को बदल रहा है – कहती हैं हैप्पी रूट्स की रीमा साठे

Get the best of SheThePeople delivered to your inbox - subscribe to Our Power Breakfast Newsletter. Follow us on Twitter , Instagram , Facebook and on YouTube, and stay in the know of women who are standing up, speaking out, and leading change.