इंदौर से शादी के पश्चात गुड़गांव जाने के बाद, प्रेरणा दुगर अपने समय के साथ कुछ रचनात्मक और उत्पादक करने का प्रयास कर रही थीं। पहले तो वे एक जातीय पोशाक बुटीक खोलने के बारे में सोच रही थी, जैसा की वे इंदौर में अपनी बहन के साथ चला रही थी। लेकिन बाजार का आकलन करने के बाद उन्होंने घर की खूबसूरत सजावट और उपयोगिता उत्पादों को उगाहने की ओर रुख कर लिया । इससे उनकी कंपनी क्राफ्टडेक की स्थापना हुई, जहां वे चीज़ों को डिजाइन करती हैं और उन्हें बनाती भी हैं।

प्रेरणा का कहना है कि उनके पति लगातार प्रोत्साहन के स्रोत रहे हैं। “हमारे यहां ब्रिटेन और अमेरिका से कुछ चीजें आती हैं I और हमारे देश में से वे ग्लास और लकड़ी के साधनों का उपयोग करती हैं। वांछित उत्पादों को ढूंढने में भी महीनों की मेहनत लगी है और गर्मी में एक से दूसरे बाजारों का सफर दिल्ली, कोटा और इंदौर में लगा।”

“मुझे अपने ग्राहकों के चेहरे पर वो मुस्कुराहट देखना पसंद है, जब वे उस कला का आनंद लेते हैं जो मैं उन लोगों के लिए बनाती हूँ जो उनके ड्राइंग रूम को सजाता है।”

पढ़िए: गौरी पराशर जोशी: आईएएस अधिकारी जिन्होंने हिंसा से पंचकूला को बचाया

इसके बावजूद, लगातार प्रयासों की आवश्यकता होती है और फिर प्रेरणा कहती हैं कि, “मैं अपने काम से प्यार करती हूँ और मुझे अपने ग्राहकों के चेहरे पर वो मुस्कुराहट देखना पसंद है, जब वे उस कला का आनंद लेते हैं जो मैं उन लोगों के लिए बनाती हूँ जो उनके ड्राइंग रूम को सजाता है। क्राफ्टडेक देश भर से आने वाले आर्डर और बिक्री से धीरे-धीरे बढ़ रहा है।”

प्रेरणा, जिन्होंने बी.बी.ए किया हुआ है, उनका मानना है कि उनके जैसे उद्यमिता ने कई अन्य लोगों को प्रोत्साहन दिया है। और यह वास्तव में केवल आर्थिक स्वंतत्रता के बारे में नहीं है बल्कि उनकी रचनात्मकता के लिए एक अनुकूल अवसर है।

“एक सहायक परिवार महिलाओं के लिए एक उद्यमी यात्रा को आरम्भ करने के लिए पहला कदम है।”

पढ़िए: जानिए २२ वर्ष का होकर कैसा लगता है इन महिलाओं को

वह कहती है, “एक सहायक परिवार महिलाओं के लिए एक उद्यमी यात्रा को आरम्भ करने के लिए पहला कदम है। मेरा परिवार बहुत सहायक रहा है और मेरे काम कि लिए उनका सहयोग सदा बना रहा है। ”

प्रेरणा आने वाले पाँच सालों में क्राफ्टडेक को एक प्रमुख घर सजावट और कला के ब्रांड के रूप में ढालना चाहती है। वह प्रसिद्ध इंटीरियर डिजाइनरों और लक्जरी घर सजावट कंपनियों के साथ काम करना चाहती हैं। वह कहती हैं, “मैं दुनिया भर में एक स्थिर ग्राहक आधार स्थापित करना चाहती हूं। मैं अपनी कंपनी के लिए बहुत सारे नए उत्पादों का निर्माण करना चाहती हूँ, कम से कम 25 कर्मचारियों की टीम में विस्तार करने और आने वाले वर्षों में पांच करोड़ का कारोबार लक्ष्य बनाना चाहती हूँ। ”

पढ़िए: “इनोवेशन एन्त्रेप्रेंयूर्शिप का दिल है” – सुरभि देवरा

Get the best of SheThePeople delivered to your inbox - subscribe to Our Power Breakfast Newsletter. Follow us on Twitter , Instagram , Facebook and on YouTube, and stay in the know of women who are standing up, speaking out, and leading change.