#टॉप-विडियोज़

#StartUpIndia देश की 4200 नई स्टरटपस में से 1500 चुनी गयी हैं

post image

आम तौर पे ‘हौसफुल्ल’ या ‘सोल्ड आउट’ जैसे शब्द सुन कर आपके दिमाग़ में किसी ब्लॉकबसटर फिल्म या म्यूज़िक कॉन्सर्ट का ख़याल आएगा. पर इसी प्रकार की दिलचस्पी भारत में शनिवार को हो रहे भारत सरकार द्वारा कराए जेया रहे सबसे पहले स्टार्ट्प इवेंट ने पैदा करी है. भारत की औद्योगिक नीति एवं संवेद्धन विभाग इस दिन भर चलने वाले शो को आयोजित कर रही है, जिसमें प्रधान मंत्री श्री.नरेंद्र मोदी जी देश के स्टारट्प्स के लिए एक नई डील सामने रखेंगे. देश की 4200 नई स्टरटपस में से 1500 चुनी गयी हैं जो राजधानी के विज्ञान भवन में एकत्र होंगी.

SheThePeople Survey Women Entrepreneurs: How Can Govt Help? Lite

SheThePeople Survey Women Entrepreneurs: How Can Govt Help?

सरकार द्वारा आयोजित अन्य उच्च स्तर के इवेंट्स जैसे के ‘मेक इन इंडिया’ व ‘डिजिटल इंडिया’, जहाँ पहली पंक्ति में अनिल व मुकेश अंबानी, या टाटा के चेर्मन साइरस मिस्त्री या भारती टेलिकॉम के सुनील मित्तल जैसे इंडस्ट्री दिग्गज होते हैं, इसके विप्रीत यहाँ सारा ध्यान देश के युवा उद्ययमियों पे केंद्रित है. एक इवेंट ऑर्गनाइज़र ने कहा,”हम इस इवेंट पर 40 वर्ष से कम के उद्ययमियों को बुलाना चाहते हैं.” इस इवेंट पर सिलिकन वॅली के कई हाइ प्रोफाइल महमान आने की अपेक्षा की जा रही है.

भाग लेने वाले स्टरटप उद्ययमियों को कई प्रख्यात वक्ताओं को सुनने व उनसे बातचीत करने का अवसर मिलेगा, जैसे की सॉफ़्टबांक CEO मसायोशी सोन, जो भारत के सोलर प्रॉजेक्ट्स में 20 बिलियन डॉलर इनवेस्ट करना चाहती हैं, उबर संस्थापक त्रविस कलनिक तथा वी-वर्क संस्थापक आदम न्यूमन. सिलिकन वॅली से लगभग 40 उद्ययमी, वेंचर कॅपिटलिस्ट और दूत निवेशकों को ख़ास निमंत्रण पे बुलाया गया है. जहाँ एक तरफ नरेंद्र मोदी जी देश की रणनीति के बारे में बात करेंगे, सरकार के अलग-अलग विभागों के सचिव आने वाले बदलाव को सक्रिय करने के परिस्थिति तंत्र पर चर्चा करेंगे.

भाग लेने वाली स्टारट्प्स में से किसी एक की गूगल के ‘लॉनर्पॅड आक्सेलरेटर प्रोग्राम’ के लिए चुने जाने की भी संभावना है. हलाकी सरकार का नीति पॅकेज लगभग तैयार है, सूत्रों से मालूं पड़ा है के इन नीतियों का केंद्र वित्त पोषण आसानी व अनुपालन बोझ कम करना होगा.

पासेज के लिए हो रही भारी भीड़ के चलते, DIPP ने सरकार से अनुरोध किया है के ऐसी कोई व्यवस्था की जाए जिससे देश के IIT, IIM और अन्य कंडरीय विश्वविद्यालयों के छात्र और साइन्स आंड टेक्नालजी व बाइयोटेक्नालजी डिपार्टमेंट के उद्भावन और स्टरटप सेंटर के लोग भी इस इवेंट को देख सकें.

अगर आप आमंत्रित किए जाने वाले भाग्यशाली लोगों में से है, यह सुनिश्चित करें के आप 9.30 बजे से पहले पहुँच जायें.