भारतीय महिला क्रिकेट टीम के WWC17  में शानदार प्रदर्शन के बाद भारतीयों ने आखिरकार भारतीय महिला क्रिकेट को स्वीकार करना शुरू कर दिया है. स्मृति मंधाना की शानदार इनिंग्स से लेकर मिताली राज के अद्भुत  शॉर्ट्स स्पॉटलाइट में बने रहे. मिताली राज की स्पॉटलाइट में बने रहने का एक और कारण भी था जब उनसे उनके पसंदीदा मेल क्रिकेटर के विषय में पूछा गया  और उन्होंने कहा –  क्या आप मेरी क्रिकेटर्स से भी उनकी पसंदीदा महिला क्रिकेटर के बारे में पूछते हैं?

स्मृति  भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे कम उम्र की खिलाड़ी है. इसके अलावा उन्हें पहले दो वर्ल्ड कप गेम में लगातार प्लेयर ऑफ द मैच अवार्ड भी मिला.

भारतीय महिला क्रिकेट टीम बहुत ही अच्छे फॉर्म में है. अब यह पूछने का एक सही समय है कि क्या हम वास्तव में इस मोमेंटम को बनाए रखेंगे. हम  भारतीय पुरुष क्रिकेट को तो बहुत महत्व देते हैं. स्पॉटलाइट ,मीडिया ,इंटरव्यू  और फैन फॉलोइंग.  परंतु क्या आप भारतीय अपने महिला क्रिकेटर्स  की प्रतिभा को पहचानेंगे?

क्यों नहीं?

यह भारतीय क्रिकेट के लिए बहुत अच्छा होगा

क्रिकेट में रुचि रखने वाली महिलाओं  के लिए कैरियर  अपॉर्च्युनिटीज  मिलेंगी

यह क्रिकेटर सबके लिए रोल मॉडल है.

” इंग्लैंड सबसे बेहतरीन टीमों में से एक और टूर्नामेंट की डिफेंस डिफेंडिंग चैंपियन भी है और भारत में उन्हें हरा दिया. गौर करने वाली बात यह भी है की भारतीय महिलाएं खिलाड़ियों के रूप में और शक्तिशाली होती जा रही है.  गेंद को एक लंबी दूरी तक पहुंचाना या निश्चित ही बाउंड्री बनाना. इस गेम में हाल ही में बहुत से फन एलिमेंट्स भी जोड़ दिए गए हैं जिनकी मैं सराहना करता हूं. इससे और ज्यादा लोग स्टेडियम में मैच देखने आते हैं”, कहते हैं  ईएसपीएन के स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट और सीनियर एडिटर गौरव कालरा.

यह महिलाएं स्टीरियोटिपिकल प्रश्नों के जवाब भी दे रही है. जब मिथाली राज से उनके पसंदीदा मेल क्रिकेटर के विषय में पूछा गया.” क्या आप यह प्रश्न किस ईमेल क्रिकेटर से करते हैं?  क्या आप उनसे उनके पसंदीदा फीमेल क्रिकेटर  के बारे में पूछते हैं? राज ने उस जर्नलिस्ट से पूछा.

हरमनप्रीत कौर भारत की एक ऐसी उल्लेखनीय खिलाड़ी है जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के बिग बैश लीग में खेला.परन्तु क्या सब उन्हें जानते हैं?  क्या आपने राजेश्वरी गायकवाड, झूलन गोस्वामी, मानसी जोशी , शिखा पांडे ,दीप्ति शर्मा, के नाम सुने हैं?  यदि आप जानते हैं तो यह बहुत अच्छी बात है परंतु भारत के अधिकतर लोग इनके विषय में नहीं जानते.

यह महिला खिलाड़ी हमें गर्वित महसूस करवाने के लिए पूरा दिन मेहनत करते हैं. परंतु क्या हम उतनी जल्दी इन  महिला क्रिकेटरों के नाम ले सकते हैं जितनी जल्दी हम  धोनी या विराट कोहली के बाद खेलने वाले  क्रिकेटर का नाम लेते हैं.  हमें इसे बदलना चाहिए. विचित्रा सल्होत्रा जो एक जर्नलिस्ट हैं,  कहती  हैं, ” भारत में बहुत ही शानदार महिला क्रिकेट वर्ल्ड है. यह देखकर अच्छा लगता है कि अब इसका प्रचार भी हो रहा है. यह इसकी पब्लिसिटी के लिए अच्छा है  और अब धीरे-धीरे  महिला क्रिकेट के लिए स्पांसरशिप ही आना शुरू हो जाएंगी.

हम आशा करते हैं  कि वह दिन जल्दी आएगा जब ” क्या पुरुषों और महिलाओं का क्रिकेट भारत में एक जैसा है?”  का उत्तर हां होगा.