महिला एवं बाल विकास मंत्रालय मातृ दिवस के अवसर पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्‍कीम के अंतर्गत कहानी साझा करने की प्रतियोगिता आयोजित कर रहा है प्रतियोगिता के बारे में :-

नाम : सुनो मां की कहानी

हैशटैग : #SunoMaaKiKahaani; #BetiBachaoBetiPadhao; #WCDMin4Women

प्रारंभ की तिथि : 08 मई, 2016 प्रात: 12 बजे से  

अंतिम तिथि : 06 जून, 2016 रात्रि  23:59 बजे  तक

प्रस्‍तुति की विधि : वीडियो (60 सैकेंड की अवधि)/लेख (अधिकतम 200 शब्‍द)

मातृ दिवस परिवार में माता को, मातृ संबंधों को तथा समाज में माताओं के प्रभाव को सम्‍मानित करने के लिए प्रत्‍येक वर्ष मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है । यह माता के प्रति प्‍यार, सम्‍मान एवं देखरेख दर्शाने का अवसर होता है ।

मातृ दिवस आयोजन करने की भावना से, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार माताओं के बारे में कहानियां आमंत्रित करके एक प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है । एक माह की अवधि वाली यह प्रतियोगिता 08 मई, 2016 से शुरू  होकर 06 जून, 2016 को समाप्‍त होगी।

WCD Ministry India

यह अभियान ऐसी माताओं के बारे में  लघु कथाएं/कहानियां साझा करना है, जिन्‍होंने जेंडर रूढ़िवादिता का विरोध किया, महिला-पुरुष भेदभाव के खिलाफ आवाज़ उठाई और महिला-पुरुष समानता एवं सशक्‍तीकरण का समर्थन करके बच्‍चों के विचारों को बढ़ावा दिया। इस कहानी ने एक दीर्घकालीन प्रभाव छोड़ा हो और परिणामस्‍वरूप उसके परिवार और/अथवा व्‍यापक रूप से समाज की सोच में बदलाव किया हो। प्रस्‍तावना इस तथ्‍य पर आधारित है कि बच्‍चों का संबंध मां के साथ  सबसे घनिष्‍ठ होता है और उनके व्‍यवहार एवं प्रवृत्‍ति बनाने में सबसे अधिक प्रभावशाली होता है । माता प्रेरणा का स्रोत और अपने बच्‍चों के लिए आदर्श भी होती हैं। जब एक मां के बारे में कोई लघु कथा या कहानी कही जाती है, वह समाज की सोच में एक सकारात्‍मक बदलाव लाने के लिए उत्‍प्रेरक के रूप में उपयोग की जा सकती है ।

इस प्रतियोगिता का उद्देश्‍य माताओं के बारे में कहानियां साझा करना, बड़ी संख्‍या में लोगों को जोड़ना, आपसी संवाद को प्रोत्‍साहित करना, पुरुषों एवं लड़कों को संवेदनशील बनाना और बेटी को सशक्‍त करने के लिए एक आदर्श उदाहरण प्रस्तुत करना है। यह पहल महिलाओं के साथ भेदभाव, असमानता एवं नि:शक्‍तीकरण के विरूद्ध संवाद स्थापित करने के लिए अवसर प्रदान करना है जिसके परिणामस्‍वरूप समाज में सकारात्‍मक बदलाव आ सके।

कहानियां साझा करने हेतु कुछ सुझाए गए विषय जैसे महिला-पुरुष समानता और सशक्‍तीकरण,लिंग भेदभाव, यौन उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, दहेज और बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराइयां इत्‍यादि हैं

आइये! हम प्रत्‍येक माता का केवल इस मातृ दिवस पर ही नहीं बल्‍कि वर्षभर नमन और सम्‍मान करें ।

पुरस्‍कार

  • कहानियों के आधार पर जीतने वाले दो सर्वोत्‍तम वीडियो को 2,500/-रुपये का पुरस्‍कार दिया जाएगा ।

  • कहानियों के आधार पर जीतने वाले दो सर्वोत्‍तम पाठों को 1,000/-रुपये का पुरस्‍कार दिया जाएगा ।

निबंधन एवं शर्तों, तकनीकी मानदंडों और मूल्‍यांकन मानदंडों पर अधिक जानकारी के लिए यहां क्‍लिक  करें ।

(क) प्रतियोगिता केवल भारतीय नागरिकों के लिए है।

ख) सभी प्रविष्‍टियां www.my.gov.in के क्रिएटिव कार्नर सेक्‍शन को प्रस्‍तुत की जानी चाहिए। अन्‍य किसी माध्‍यम/विधि के माध्‍यम से प्रस्‍तुत की गई प्रविष्‍टियों पर मूल्‍यांकन हेतु विचार नहीं किया जाएगा।

(ग) विजेता प्रविष्‍टियां महिला एवं बाल विकास मंत्रालय का बौद्धिक संपत्‍ति तथा प्रतिलिप्‍याधिकार (कापीराइट) होगा और पुरस्‍कार स्‍वीकार करने के बाद विजेता का इस पर कोई अधिकार नहीं होगा। भारत सरकार पुरस्‍कार विजेता प्रविष्‍टि का प्रयोग प्रचार एवं प्रदर्शन के प्रयोजनों के लिए, आईईसी सामग्री के रूप में तथा इस पहल के लिए उपयुक्‍त किसी अन्‍य प्रयोजन के लिए करेगी।

(घ) विषय-वस्‍तु मूल होनी चाहिए तथा भारतीय प्रतिलिप्‍यधिकार अधिनियम, 1957 के किसी उपबंध का उल्‍लंघन नहीं होना चाहिए। अन्‍य किसी के प्रतिलिप्‍यधिकार का अतिक्रमण करते पाए गए व्‍यक्‍ति को प्रतियोगिता के अयोग्‍य ठहरा दिया जाएगा। भारत सरकार प्रतिभागी द्वारा बौद्धिक संपत्‍ति के प्रतिलिप्‍याधिकार उल्‍लंघन अथवा अतिक्रमण के लिए उत्‍तरदायी नहीं होगा।

(ड.)   भागीदार को यह सुनिश्‍चित करना है कि उसका/उसकी MyGov  प्रोफ़ाइल  सही है और अद्यतित है, क्‍योंकि मंत्रालय इसका प्रयोग आगे के सम्‍पर्क के लिए करेगा। इसमें नाम, फ़ोन  नंबर तथा ई-मेल शामिल है। अधूरे प्रोफाइल वाली प्रविष्‍टियों पर विचार नहीं किया जाएगा।

(च) महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के पास प्रतियोगिता के सभी अथवा किसी भाग को और/अथवा शर्ते तथा निबंधन/तकनीकी पैरा मीटरों/मूल्‍यांकन मानदण्‍ड को रद्द करने अथवा संशोधित करने के अधिकार सुरक्षित हैं। तथापि, शर्तों और निबंधनों/तकनीकी पैरा-मीटरों/मूल्‍यांकन मानदण्‍ड अथवा प्रतियोगिता को रद्द करने में किसी परिवर्तन को MyGov प्‍लेटफार्म और/अथवा मंत्रालय की वेबसाइट (www.wcd.nic.in) पर अद्यतित किया जाएगा/अपलोड किया जा सकता है। यह भाग लेने वाले का उत्‍तरदायित्‍व होगा कि इस प्रतियोगिता के लिए उल्‍लिखित शर्तों  तथा निबंधन/तकनीकी पैरा मीटरों/मूल्‍यांकन मानदण्‍ड में किसी परिवर्तन से स्‍वयं को अवगत कराता रहे।

(छ.) प्रतिभागी को अपनी प्रविष्‍टि पूरी प्रतियोगिता के लिए प्रस्‍तुत करनी अपेक्षित है। आंशिक/अपूर्ण प्रविष्‍टियों पर मूल्‍यांकन के लिए विचार नहीं किया जाएगा। भाग लेने वाले एक से अधिक प्रविष्‍टि प्रस्‍तुत कर सकते हैं।

ख-  तकनीकी पैरा-मीटर

i. पाठ आधारित कहानी के लिए दिशा निर्देश:

क. विषय वस्‍तु नवीन तथा आकर्षक होनी चाहिए।

ख. यह 200 शब्‍दों से अधिक नहीं होनी चाहिए।

ग. यह अंग्रेजी अथवा हिंदी में होनी चाहिए।

घ. किस्‍से/कहानियां पाठ में स्‍पष्‍ट रूप से प्रतिबिंबित होनी चाहिए।

ड. प्रतिभागी द्वारा प्रविष्‍टियों पर मुहर अथवा जलचिन्‍ह अंकित नहीं करना चाहिए।

ii. वीडियो प्रतियोगिताओं के लिए दिशा-निर्देश

क. उत्‍पादन महत्‍व

i. व्‍यक्‍ति को कैमरा लेंस की ओर सीधा देखकर बोलना चाहिए।

ii. व्‍यक्‍ति को अंग्रेजी अथवा हिंदी भाषा में जोर से तथा स्‍पष्‍ट रूप से बोलना चाहिए।

iii. वाणी की गति संतुलित होनी चाहिए न तो तेज हो ना ही बहुत धीमी हो।

iv. व्‍यक्‍ति को कैमरे के सामने बहुत अधिक झुकना या घूमना नहीं चाहिए।

v. व्‍यक्‍ति को कैमरे को अपना मित्र समझना चाहिए।

vi. ध्‍वनि (साउंड बाइट) 60 सैकण्‍ड से अधिक नहीं होनी चाहिए।

 

ख. कृपया, पूर्व अभियान में प्राप्‍त हुए कुछेक प्रमाण पत्र के उदाहरणों को देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाए

https://www.youtube.com/watch?v=J-wnDiHJx6M

https://www.youtube.com/watch?v=S-tbRRiThWo

https://www.youtube.com/watch?v=GyzyeSO-CDE

ग. प्रतियोगी को अपने वीडियो यूट्यूब चैनल पर अपलोड करने होंगे तथा वीडियो लिंक MyGov प्‍लेटफार्म के #SunoMaaKiKahaani प्रतियोगिता पृष्ठ पर साझा करें

Women In Digital

अनुबंध की अन्‍य शर्तें

  1. मंत्रालय में प्राप्‍त सभी प्रविष्‍टियों का पहले संवीक्षा समिति द्वारा मूल्‍यांकन किया  जाएगा। तत्‍पश्‍चात अनुमोदित प्रविष्‍टियों की अंतिम मूल्‍यांकन के लिए चयन समिति द्वारा पुरस्‍कार के लिए जांच की जाएगी।

  1. प्रविष्‍टियों की जांच गठन, सृजनात्‍मकता, मौलिकता के तत्‍वों को व्‍यक्‍त करने के ढंग के आधार पर की जाएगी ।

  1. चयन समिति का निर्णय अंतिम और सभी प्रतिभागियों पर बाध्‍यकारी होगा। किसी भी निर्णय के बारे में किसी भी प्रतिभागी को कोई स्‍पष्‍टीकरण नहीं दिया जाएगा।

  1. अयोग्य प्रविष्‍टियों का मंत्रालय द्वारा किसी भी प्रयोजन के लिए उपयोग नहीं किया जाएगा और उन पर मंत्रालय के कोई  बौद्धिक अधिकार नहीं होंगे ।

 

ड. प्रविष्‍टियां/प्रमाण पत्र मूल होने चाहिए। नकल/साहित्‍यिक चोरी की प्रविष्‍टियां प्रस्‍तुत करने वाले व्‍यक्‍तियों को इस प्रतियोगिता तथा भावी प्रतियोगिताओं के लिए मान्‍य नहीं समझा जाएगा।

च. प्रविष्‍टियां भेजने की अंतिम तिथि 6 जून, 2016 रात्रि 23:59 बजे तक है। अंतिम तारीख के बाद प्राप्‍त हुई प्रविष्‍टियों पर विचार नहीं किया जाएगा।

अस्‍वीकारण (डिस्‍कलेमर): महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार नकल के रूप में पहचानी गई किसी भी प्रस्‍तुति के लिए उत्‍तरदायी नहीं होगा।