बहुत लोग हैं जो जिम जाने और स्वस्थ रहने के विचार को कल पर टाल देते हैं.  कभी-कभी स्वस्थ रहने के लिए प्रेरणा मिलना मुश्किल है  परन्तु आज के इस समय में प्रेरणादायक कहानियां ढूंढना बहुत आसान है. यह प्रेरणादायक कहानी है राशि मल्होत्रा की. राशि मल्होत्रा की फिटनेस जर्नी एक दशक पहले शुरू हुई.

“मुझे याद है मैंने 16 साल की उम्र में स्वयं को शीशे में देखा और सोचा,” कल से  केक सोडा फ्राइड फूड खाना बंद.  मैंने रोज 5 किलोमीटर  चलने का निर्णय लिया.”

16 साल की उम्र में  राशि का वजन 90 किलो था.  वह हमें बताती हैं-” मैं चिड़ाए जाने से  परेशान हो गई थी. मुझे अपने लिए कपड़े भी नहीं मिलते थे. अपने रवैये से भी तंग आ गई थी.

राशि कहती हैं कि वह अपने आप को मजबूत इच्छा शक्ति पाने के कारण भाग्यशाली मानती हैं. लोगों को उनका यही गुण प्रशंसनीय लगता था. परंतु कभी-कभी वह अपने साथ बहुत सख्त हो जाती थी जिसके कारण शरीर को भुगतना पड़ता था. ” मैं कमजोर होने लग गई थी.  एक ऐसा समय आया जब मैं प्रतिदिन 3 घंटे ट्रेनिंग करती थी परंतु मैं अपने शरीर को पोषण नहीं दे रही थी.  इसके बाद मुझे योगा के बारे में पता चला  और मैंने अच्छा आहार खाना शुरू किया.  परंतु मैं कार्ब्स और फैट से दूर रहती थी.”

स्वयं को स्वस्थ रहने के विषय में शिक्षित करके  और सही लोगों से सुझाव लेकर  मैंने अपने भोजन में  सीरियल और फैट्स  को शामिल करना शुरू किया. 

जब उनसे पूछा गया कि वह अपनी फिटनेस जर्नी में  किस बात पर सबसे ज्यादा गर्व महसूस करती हैं तो उन्होंने बताया,” मुझे इस बात की खुशी है कि मैं निरंतर सीखती रहती हूं. मैं एक बहुत ही उदास बच्चा थी परंतु अब  मेरे अंदर बहुत बदलाव आया है. मुझे ट्रेनिंग के नए फॉर्म्स के बारे में शिक्षित होना बहुत पसंद है. मैं अभी भी फ्राइड फूड और रिफाइंड शुगर को हाथ नहीं लगाती. इसके साथ-साथ अब मैं बहुत प्रसन्न रहने लग गई हूं.

राशि अपनी फिटनेस जर्नी दर्शाने के लिए इंस्टाग्राम का इस्तेमाल करती हैं. वह अभी प्रमुख फिटनेस फ्रेंड के साथ काम करती हैं. ” फिटनेस ने मुझे बहुत कुछ दिया है. इसने मुझे सकारात्मक बनाया है.”

जो लोग फिटनेस जर्नी शुरू करने वाले हैं उनके लिए राशि का सुझाव है- ” फिटनेस में आप कैसा दिखते हैं कि ज्यादा जरूरी है यह जानना कि आप कैसा महसूस करते हैं.  आपको स्वयं से प्यार करना सीखना होगा.”