आजकल  खाना बनाने की गतिविधि मानसिक स्वास्थ्य क्लीनिक और थेरेपिस्ट के दफ्तरों में लोगों का इलाज करने में काम आ रही है.  इससे  मानसिक और व्यवहारिक मुश्किलें हल की जा सकती है जैसे  डिप्रेशन, एंग्जाइटी और एडिक्शन.

खाना बनाने से  रचनात्मकता  को बढ़ावा मिलता है  जिससे हमारे मन में नए विचार आते हैं. इससे हमें ताजगी का भी अनुभव होता है.  खाना बनाने के अन्य लाभों के बारे में जानिए.

1.  खाना  बनाना मनुष्य की मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा है. सब्जियां धोने से लेकर उनको काटने और पूरे तरीके से तैयार करने में  आपकी मानसिक और शारीरिक गतिविधि दोनों होती है.  इससे आपका जीवन की ओर परिप्रेक्ष्य बदलता है और आप  बहुत सकारात्मक हो जाते हैं.

2.  खाना बनाना आप की प्रतिभा को भी दर्शाता है. अलग-अलग फ्लॉवर्स के बारे में सोचना और उनको  भोजन में  डालने से  आपकी रचनात्मकता बढ़ती है

3.  खाना  बनाने से आपका तनाव दूर रहता है और आपका मन  सुखद रहता है.

4.  खाना बनाने से आपके मैनेजमेंट स्किल्स बेहतर होते हैं. आप दूसरों के साथ सहयोग करना सीखते हैं.  इससे आपका  डिप्रेशन और अन्य मानसिक रोग भी दूर होते हैं.

5.  खाना बनाने के लिए  मांसपेशियों की ताकत अनिवार्य है  जिससे आपका व्यायाम हो जाता है.  इसमें आप की इंद्रियां भी अच्छे से काम करने लगती हैं.

6.  खाना बनाने से आपका गुस्सा और तनाव  कम हो जाता है.  खाना बनाने की प्रक्रिया के दौरान रसोई के अंदर की गर्मी से  आपको पसीना आता है  जिसके कारण आपका मन और शरीर दोनों ही ठंडे हो जाते हैं. आप अपना दिन  ताजगी के साथ शुरू कर सकते हैं. आपके मन को भी बहुत शांति मिलती है.  आपको अपनी आंतरिक क्षमताओं के विषय में भी पता चलता है.