जिला बांदा, कस्बा बांदा आज के बदलत जमाना मा मेहरिया हर क्षेत्र मा काम करत हैं। मनसवा के या समाज मा मेहरिया सबै जघा आपन काम करै के कोशिश करत हैं। यहिनतान का काम कइ देखाइस है, गायत्री गुप्ता बस मा कंडेक्टर का शुरु करिस हवैं।

आइए मिलते हैं बाँदा की महिला कन्डक्टर गायत्री गुप्ता से

गायत्री गुप्ता का कहब है कि 19 दिसम्बर 201 6 का मैं महिला कंडेक्टर के पद मा काम करब शुरु कीने हौं। या काम करै मा मोहिका कउनौ परेशानी नही होत आय। घर अउर विभाग का पूर पूर सहयोग मिलत हैं। भीड़ मा सवारिन के कारन मोहिका चुनौती मिली है।
सवारी अपने से टिकट कटवा ले तौ भीड़ मा बहुतै सहयोग मिलत हैं। कंडेक्टर खातिर 13 दिन के ट्रेनिंग भे रहैं। जेहिमा कानपुर, कर्वी, अउर कालिंजर जइसे जघा मा गइंव हौं।
एक दिन मा एक या दुइ चक्कर लगावै का पड़त है। एक महीना मा 22 दिन के डयूटी रहत है, जेहिमा 4 हजार किलोमीटर चले का होत है। अबै तक मनसवन का बस कंडेक्टर के रूप मा देखत रहै पै अब मेहरिया का भी कंडेक्टर के रूप मा देखिहैं।

रिपोर्टर- मीरा देवी
Khabar Lahariya